Wednesday, 28 August 2013

राधे राधे बोलो चले आयेंगे बिहारी


राधे राधे बोलो चले आयेंगे बिहारी
देश को बचाने चले आयेंगे मुरारी
आधी रात को तुम जन्मे और मेरा देश भी
चीरहरण होते रोज पर तेरा दोष नहीं

एक कंस तूने मारा, कई कंस घुमते हैं
वंशवाद polictics में सारे नेता झूमते हैं
Currency की-कदर नहीं, बे-अदब ये व्यवस्था है
Urgency में बदहाल पड़ी, रोती अर्थव्यवस्था है 

है ये चिदम्बरम की चौधराहट और मन्नू की बिमारी
Current account deficit और खाली अलमारी
राधे राधे बोलो चले आयेंगे बिहारी
देश को बचाने चले आयेंगे मुरारी

Wednesday, 21 August 2013

मैं बहिन हूँ मंहगाई, जिसका भाई भ्रष्टाचार

मैं बहिन हूँ मंहगाई, जिसका भाई भ्रष्टाचार
राखी का बंधन ना टूटे, खूब फले ये अपना प्यार
 
डायन डायन कहते मुझको,
पर देख कितनी मैं भोली हूँ,
हूँ काले धन-सी काली,
पर तेरे हाथों की राखी और माथे की रोली हूँ
 
डॉलर भैया भी आये हे
पैंसठ की राखी लाये थे
कह रहे हे की जल्दी बाँध
अब जाना है सत्तर पार
ओ प्यारे भैया भ्रष्टाचार.... ओ प्यारे भैया भ्रष्टाचार
 
मैं सूर्पनखा तू भैया रावण
दे वचन आज है शुभ दिन पावन
विकास-दर को रंगहीन कर
खुशियाँ भरना मेरे दामन
 
मैं Onion की Gold परत
तू नेताओं का भाई भरत
2G’ को आदर्श बना के और ‘Common Wealth’ को धर अलमारी
तू ही हर्षद, तेलगी और तू ही कांग्रेसी कलमाड़ी
कुछ ना मुश्कल तेरे खातिर, और नेता कितने तेरे यार
ओ प्यारे भैया भ्रष्टाचार.... ओ प्यारे भैया भ्रष्टाचार